इडली के बारे में सब कुछ – इडली बैटर के प्रकार और इसके पोषण मूल्य!

This post is also available in: enEnglish

आप में से बहुत लोग यह जानकर हैरान होंगे कि इडली केवल भारत का एक लोकप्रिय व्यंजन  ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर में भी काफी लोकप्रिय है।

तो इडली क्या है?

इडली एक बहुत लोकप्रिय स्टीमयुक्त केक डिश है जो चावल और डी-हस्कड काली उड़द से बनता हैं। भारत के लगभग हर रेस्टोरेंट के मेन कोर्स की सूची में इडली होती है। और इडली जंक फूड नहीं है यह वास्तव में त्वरित और आसान है और पोषण लाभ से भी भरा है।

इस लेख में, हम इडली बैटर के प्रकार, इडली कैसे बनाते हैं, इडली मेकर के प्रकार और इडली में पोषण पर चर्चा करने जा रहे हैं।
idli

बैटर कैसे बनाया जाता है?

बैटर का मतलब है अर्ध-तरल मिश्रण। इडली बैटर बनाने के लिए आपको निम्नलिखित सामग्रियों की आवश्यकता होगी-

(कप आकार- 240 मिलीग्राम)

1. नियमित चावल -1 कप

2. इडली /डोसा चावल (पारर्बॉइलड )- 1 कप

3. काले डी-हस्कड उड़द – 1/2 कप

4. 20 ग्राम पोहा

4. पानी- (उड़द के लिए आधा कप और ३/४ कप चावल पीसने के लिए, २.५  कप इडली स्टीम करने के लिए)

5. तेल- (इडली पर लगाने के लिए,आवश्यकता अनुसार)

हालांकि इडली जल्दी और आसानी से तैयार हो जाता है, लेकिन सामग्री की तैयारी एक समय लेने वाली प्रक्रिया है। बैटर को तैयार करने के बाद आपको 5-6 घंटों तक इंतजार करना होगा।

बैटर बनाने की विधि ।

soaked-rice-uraddal-idly-batter

  • एक कटोरे में 1 कप पारर्बॉइलड चावल और 1 कप नियमित चावल लें।
  • दोनों चीजों को २-३ बार पानी से धोये
  • एक कटोरी में ¾ कप पोहा ले और धो ले।
  • अब इस पोहा को नियमित और पारर्बॉइलड चावल के मिश्रण में मिलाये और इसे ५-६ घंटे तक छोड़ दें। उतना ही नमक डाले जितना आपको चाहिए।
  • काले उड़द (डी-हस्कड) के साथ ऐसा ही करे; उन्हें पानी में भिगोएँ और इसे घंटों के लिए छोड़ दें।
  • आप या तो चावल और दाल के मिश्रण को एक साथ या भागों में पीस सकते हैं। आपका बैटर तैयार है।

यह बेहतर होगा यदि आप बैटर को रात में तैयार करे और इसे रातोंरात छोड़ दें और अगली सुबह इडली तैयारी के लिए इसका इस्तेमाल करें।

इडली कैसे बनता है?

एक बार जब आप बैटर तैयार कर लेते हैं और इसे रातोंरात छोड़ देते हैं, तो अगला कदम आपको बैटर को भाप देने के लिए अपने इडली मेकर को तैयार करना है। स्टीमर के नीचे कुछ पानी डाले और फिर इसे उबाल लें। पानी उबलते समय, बैटर को इडली मोल्ड्स में डालें। जब यह बैटर ठोस आकर और स्पंजयुक्त हो जाता है, आपका इडली तैयार है। यदि आप चाहें तो आप इन इडलियों को तेल में तलकर सॉस के साथ परोस सकते हैं।

आम तौर पर,लोगों को इडली के साथ सांभर पसंद है। सांभर भी दक्षिण भारतीय 
व्यंजन है जिसमें सब्जियां और दाल शामिल हैं। कुछ लोग प्याज, टमाटर, हल्दी 
पाउडर और अन्य मसालों का उपयोग करके विभिन्न प्रकार के ग्रेवी तैयार करते है 
और इस मिश्रण में इडली डालकर परोसते हैं।

इडली मेकर

जैसे मामोस बनाने के लिए एक विशेष बर्तन हैं, वैसे इडली के लिए इडली मेकर हैं। बाजार में एल्यूमीनियम इडली मेकर और स्टील इडली मेकर उपलब्ध हैं। यदि आपके पास माइक्रोवेव है, तो आप एक माइक्रोवेव इडली कंटेनर खरीद सकते हैं। इडली मेकर महंगे नहीं हैं, आप इसे ३००-३०००  रुपए की कीमत सीमा में आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

idli moulds

लोकप्रिय इडली मेकर्स में शामिल हैं:

इडली कुकर – इस कुकर में एक गहरे कंटेनर होता  हैं जिसमें अलग-अलग इडली मोल्ड लगाए जाते हैं। जब कंटेनर में पानी उबलता है, तो इडली भाप से पकता है। इडली कुकर दो रूप में उपलब्ध हैं: बिजली के इडली कुकर और सामान्य रूप वाले जिन्हें आप गैस स्टोव पर इस्तेमाल कर सकते है।

  • इडली स्टैंड – ये वास्तव में इडली मोल्डस है जो स्टील या एल्यूमीनियम के बने होते है। आप बैटर को इन मोल्डों में रख सकते हैं और स्टैंड को एक गहरे पैन या उबलते पानी वाले प्रेशर कुकर में रख सकते हैं।
  • माइक्रोवेववेबल इडली मोल्ड – इन मोल्डों से माइक्रोवेव में इडली बनता हैं। वे इडली स्टैंड की तरह ही हैं, फर्क सिर्फ इतना है कि इडली को माइक्रोवेव के माध्यम से पकाया जाता है और भाप के माध्यम से नहीं!

इडली में पोषण

क्या आप जानते हैं कि इडली आपको क्या लाभ प्रदान करता हैं? आप पहले से अनुमान लगा चुके हैं कि इसमें चावल और उड़द दोनों के गुण शामिल है। एक इडली के टुकड़े में लगभग ८ ग्राम कार्बोहाइड्रेट, २ ग्राम प्रोटीन और २ ग्राम आहार फाइबर होता हैं। एक इडली के टुकड़े में ३५ कैलोरी होता हैं। इडली में विटामिन बी होता है। इडली आमतौर पर सांभर (सूप का एक प्रकार) के साथ नारियल, टमाटर और प्याज सॉस के साथ परोसा जाता है। इसलिए, चावल और उड़द के लाभों के साथ आप प्याज, नारियल और टमाटर के पौष्टिक लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। इडली के बारे में एक अच्छी बात यह है कि इसमें सैचुरेटेड फैट्स नहीं है। इडली में आयरन, कैल्शियम और विटामिन ए भी हैं। इडली में कम सोडियम होता है, इसलिए यह हृदय के लिए लाभदायक और स्वस्थ भोजन है।

इडिली बैटर के प्रकार

idli brown rice and rava

इडली या तो सफेद चावल या ब्राउन राइस के साथ बनाया जा सकता है। कुछ लोग इडली बनाने के लिए रावा का उपयोग भी करते हैं। इडली को स्वास्थ्यप्रद तब माना जाता है जब वह ब्राउन राइस या गेहूं के रावा से बनता है क्योंकि ब्राउन राइस और गेहूं का रावा सफेद चावल से ज्यादा स्वस्थ है। यदि आपने रावा के बारे में नहीं सुना है तो रावा गेहूं का एक उत्पाद है जो पीसे हुए हस्कड गेहूं से बनता है। यह आमतौर पर दक्षिण भारतीय व्यंजनों में प्रयोग किया जाता है। रावा इडली मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा है क्योंकि यह पूरे गेहूं से बना है। सबसे आम प्रकार के इडली  बैटर को पीसे हुए सफेद चावल,ब्राउन राइस, सूजी (सूजी), रावा और पारर्बॉइलड चावल का उपयोग करके तैयार किया जाता है। हालांकि, सभी प्रकार के इडली बैटर में पानी, खमीर, दही और नमक डालना सामान्य है। उच्च तापमान वाले स्थानों में इडली बैटर में खमीर डालने की आवश्यकता नहीं होती क्योंकि बैटर खुद फूलता है।

इडली एक स्वादिष्ट और हल्का व्यंजन है और आम तौर पर दक्षिण भारत में नाश्ते में लिया जाता है। लेकिन इसके लिए कोई भी कठोर नियम नहीं है, आप जब चाहे इसका आनंद ले सकते हैं।

Tags:

Add Comment

Besan Nankhatai Recipe
बेसन नानखताई रेसिपी
How to make Veg Colesaw Sandwich
वेज कोलस्लॉ सैंडविच रेसिपी
How to make Yakhni Pulao
यखनी पुलाव रेसिपी
Mushroom Pepper Fry cooking process
मशरुम पेप्पर फ्राई रेसिपी
shea-butter-benefits
१० कारण आपको क्यों शिया मक्खन का उपयोग करना चाहिए
चिया बीज और इसके स्वास्थ्य लाभ क्या हैं?
benefits of oolong tea
ओलॉन्ग टी और इसके स्वास्थ्य लाभ क्या है
13-health-benefits-of-carrot-juice
गाजर का रस के १३ स्वास्थ्य लाभ